This page has moved to a new address.

कुछ सिखाती है ये जीत !

AchchiKhabar.Com: कुछ सिखाती है ये जीत !

Wednesday 24 November 2010

कुछ सिखाती है ये जीत !


क्या आप इस चेहरे को पहचानते हैं. शायद आप पहचानते हों !! पर क्या आपको इनका नाम पता है...शायद नहीं. तो जान लीजिये ये हैं AchchiKhabar.Com की latest "Real-Hero" , प्रीजा श्रीधरन (  Preeja Sreedharan ). Asiad 2010 से पहले इनको उतने ही लोग जानते रहे होंगे जितना की  किसी आम आदमी कोई जानता है. लेकिन अपनी जीतोड़ मेहनत और साधना से उन्होंने पूरी दुनिया के सामने अपना लोहा मनवा दिया.
केरला की छोटी सी जगह मुल्लाक्कानाम से belong करने वाली इस धावक ने महिलाओं की 10,000 मीटर दौड़ में Gold Medal जीतकर सभी को आश्चर्य में डाल दिया. जीतने के बाद उन्होंने अपनी माँ और भाई को इसका श्रेय दिया .
अत्यन्य गरीब परिवार से होने की वजह से उन्हें कई कठिनआयों का सामना करना पड़ा.
भावुक होते हुए वे बताती हैं कि," मै जब बहुत छोटी यही तभी मेरे पिता का देहांत हो गया था , उसके बाद पूरा परिवार काफी मुसीबतों से गुजरा. भाई को आठवीं के बाद पढाई छोड़ कार carpenter का काम करना पड़ा और मेरी माँ को दूसरों के घरों में काम करना पड़ा"

सचमुच इंसान को कभी उम्मीद नहीं  छोड़नी चाहिए, कौन जानता था कि प्रीजा एक दिन इतना बड़ा काम करेंगी. इसी तरह हर एक मनुष्य में कुछ ख़ास है, जरूरत है अपनी काबलियत को पहचानने कि और फिर जीतोड़ मेहनत कर के अपने सपनो को साकार करने की. और प्रेरणा लेने के लिए हम  आपको "Real Heroes" से तो मिलवाते रहेंगे ही .  



Labels:

1 Comments:

At Saturday, July 16, 2011 , Blogger Praveen Kumar Pathak said...

This is very good article i like this article.

 

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

Links to this post:

Create a Link

<< Home