This page has moved to a new address.

इदुलजुहा या बकरीद क्यों मनाते हैं?

AchchiKhabar.Com: इदुलजुहा या बकरीद क्यों मनाते हैं?

Thursday 18 November 2010

इदुलजुहा या बकरीद क्यों मनाते हैं?




Eid-ul Adha का अर्थ है - Festival of sacrifice   यानि बलिदान का पर्व.
वैसे बकर-ईद में बकर का मतलब बकरे से नहीं होता. अरबियन में  बकर का अर्थ होता है camel.
Prophet Ibrahim   को Khalil'ullah के नाम से भी जाना जाता हा, जिसका मतलब है "Friend of Allah" 


एक बार अल्लाह ने हज़रत इब्राहीम का इम्तेहान लेने के लिए उनसे अपनी सबसे प्यारी चीज कुर्बान करने  को कहा. तब हजरत इब्राहीम ने अपने  अजीज बेटे इस्माइल को अल्लाह के नाम पे कुर्बान करने का फैसला किया. उनका बेटा भी इस काम के लिए ख़ुशी-ख़ुशी तैयार हो गया.जब वो कुर्बानी देने ही वाले थे तब  अल्लाह ने उन्हें बताया की वो तो बस उनका इम्तेहान ले रहे थे और वो अपने बेटे की जगह एक भेंड (male sheep) को कुर्बान कर सकते हैं. तभी से बकरीद मनाने की शुरुआत हुई.यह हर साल Muslim Month जुल-हिज्जा के दसवें दिन मनाया जाता है .

Click To Read More(English)

Labels:

0 Comments:

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

Links to this post:

Create a Link

<< Home