This page has moved to a new address.

Life Insurance लेने से पहले जाने 10 महत्वपूर्ण बातें

AchchiKhabar.Com: Life Insurance लेने से पहले जाने 10 महत्वपूर्ण बातें

Friday 7 January 2011

Life Insurance लेने से पहले जाने 10 महत्वपूर्ण बातें


Life Insurance Policy
Tip for buying life insurance in Hindi
Life Insurance लेने से पहले जाने 10 महत्वपूर्ण बातें  

कोई भी Financial Planning बिना जीवन बीमा पोलिसी  के complete नहीं हो सकती. तो यदि आप भी अपनी Financial Planning कर रहे हैं या भविष्य में करेंगे तो Life Insurance के बारे में कुछ महत्त्वपूर्ण बातें जान लेना उचित होगा. ये बातें मैं आपको अपने experience की basis पे बता रहा हूँ ,HCL Technologies join करने से पहले  मैंने दो साल तक बतौर  Manager  एक Private Life Insurance Company  में काम किया है, इसलिए आप इन बातों पे पूरा भरोसा कर सकते हैं.
 
आज बाज़ार में बीस से ज्यादा Life Insurance कंपनियां मौजूद हैं. विकल्पों की कोई कमी नहीं है. कोई भी T V  Channel लगाइए कोई न कोई Insurance Company  का प्रचार दिख ही जायेगा. कोई Children Plans बेच रहा है ,तो कोई Pension Plan  के लिए लुभा रहा है. ऐसे में यदि आप confuse  होते हैं की कौन सा plan  लें तो इसमें आपकी कोई गलती नहीं है.किस आदमी के लिए कौन सा प्लान सही है ये कई बातों पे निर्भर करता है. जैसे की वो life की किस  stage  पे है, उसकी जिम्मेदारियां क्या-क्या हैं? एक पच्चीस साल के नवयुवक और एक चालीस साल के व्यक्ति की ज़रूरतें अलग-अलग होंगी और उनके उद्देश्य भी अलग-अलग होंगे. पर कुछ बातें ऐसी हैं जो किसी भी life insurance policy को लेने में ध्यान में रखनी चाहिए. आज मैं AchchiKhabar.Com  पर ऐसी ही कुछ बातें आपसे share  करूँगा:

पहले जानिये कि आपके पास कितने का Life Insurance होना चाहिए:

यहाँ कितने  से मेरा मतलब Premium से नहीं बल्कि बीमा राशि या Sum Assured से है.ये वो धन है जो व्यक्ति की मृत्यु पर उसके परिवार वालों को मिलता है.

Thumb Rule says की एक सामान्य व्यक्ति के पास अपनी सालाना कमाई का 10 – 12 गुना जीवन बीमा होना ही चाहिए. For Example:  यदि आपकी सालाना कमाई 5 lakhs है तो आपके पास 50 – 60 लाख का Life Insurance  होना चाहिए. इसके पीछे का logic ये है की यदि व्यक्ति की मृत्यु होती है तो उसके परिवार को एक मुश्त इतना पैसा मिल जाये की यदि उसे कहीं सुरक्षित जमा करा दिया जाये तो उसका interest व्यक्ति की सालाना कमाई के आस-पास हो और परिवार पे कोई आर्थिक संकट ना आ सके.  

इतने amount  का insurance लेना कोई बड़ी बात नहीं है. आप चाहें तो किसी अच्छी कंपनी का Term Plan  ले सकते हैं. मेरे एक 28 वर्षीय मित्र  ने अभी हाल ही में Kotak Mahindra Life Insurance Co. से Rs.6700 रु में Rs.50 लाख का बीमा लिया है.  

यदि आपके पास इस calculation  के हिसाब से insurance नहीं है तो आप सबसे पहले इसकी व्यवस्था करें और उसके बाद ही किसी और तरह के निवेश के बारे में सोचें.मैंने कई सेठों को सालाना लाखों रुपये प्रीमियम भरते देखा है और अगर उनकी बीमा राशि कि बात कि जाये तो वो 10 लाख भी नहीं होती.इसे बेवकूफी ही तो कहेंगे.

कम उम्र में लें जीवन बीमा :

जैसे जैसे उम्र बढती है वैसे-वैसे उसी बीमा राशि के लिए कम्पनियाँ ज्यादा premium charge करती हैं. तो बेहतर यही होगा कि आप कम उम्र में ही Life Insurance ले लें. ये ज़ाहिर सी बात है कि शुरू में आदमी कि income कुछ कम होती है इसलिएआप अपने budget के हिसाब से policy  लें और जैसे जैसे  income  बढे और नयी policy ले के अपना Life Insurance Cover बढ़ाएं.

Life Insurance को किसी उद्देश्य से जोड़कर देखें:

जब किसी policy के साथ आप कोई उद्देश्य जोड़ देते हैं तो वो एक कागज के टुकड़े से बढ़कर हो जाती है. ऐसे में इस policy  के lapse होने के chances  कम हो जाते हैं...आपके पास उसे  regularly  चलाने  की एक वजह होती है.उद्देश्य होने से आप बेकार के plans  समझने में अपना और advisor  का वक्त भी जाया नहीं करते हैं और सही policy के बारे में ही discuss  करते हैं.

तो ज़रूरी है की आप अपने उद्देश्य को जानिए और उसके हिसाब से  plan  को चुनिए. आपका उद्देश्य अपने  retirement के लिए पैसे जुटाने का हो सकता है, बच्चो की higher studies का हो सकता है या कुछ ओर पर अगर आप  Tax Saving को अपना उद्देश्य बना रहे हैं तो ये  कोई उद्देश्य नहीं हुआ , वो तो बस एक added advantage है  Life Insurance  लेने का.

Unit Linked Insurance Plans हो सकते हैं  एक अच्छा विकल्प :

यदि आप अपने पैसों को ज्यादा दिनों के लिए ( Minimum 5 Years) निवेश करना चाहते हैं, उस पैसे पर Tax Benefit चाहते हैं, Life Insurance Cover चाहते हैं और साथ ही साथ एक अच्छा return भी चाहते हैं तो ULIP एक बहुत ही अच्छा विकल्प है.  खास तौर से 1 September 2010  के बाद से ऐसी policies के charge , IRDA ने बहुत कम कर दिए हैं और इस वजह से ये customers  के लिए एक बहुत ही अच्छा विकल्प बन गया है.

इन policies  को लेने में बस एक बात का ख्याल ज़रूर रखिये, इन्हें Monthly Mode में ही खरीदिए, क्योंकि ये पोलिसियां share-market  से सम्बंधित होती हैं. और monthly mode में प्रीमियम अदा करने से आपको घाटा होने का चांस बहुत घट जाता है. लंबी अवधी तक इस पोलिसी को चलने पर आप 15-20% का return expect कर सकते हैं.

अब यदि आपको  Tax बचाने के चक्कर में annual mode में ही policy लेनी पड़ रही है तो भी आप life insurance company से request कर सकते हैं कि आपके पैसे को monthly mode में ही invest किया जाये.Generally, कुछ policies में ये option मौजूद होता है,आप उन्ही में से एक को चुन सकते हैं.  
ULIP में Funds के भी कई सारे विकल्प मौजूद होते हैं, Fund का चुनाव आप advisor पे न छोड़े, बल्कि किसी जानकार व्यक्ति से सलाह कर के ही अपनी ज़रूरत के हिसाब से सही Fund select करें. आपके पास बीच-बीच में अपने funds  बदलने कि सुविधा भी होती है, इसका लाभ ज़रूर उठाएं.  

सही policy चुनने के लिए websites का प्रयोग करें :

ऐसी websites पे जाकर आप सभी कंपनियों के plans compare कर सकते हैं और अपने लिए best option चुन सकते हैं. ये काम आप ज़रूर करें क्योंकि कोई भी advisor बस आपको अपने product कि विशेषताएं बताएगा और उसे और सबसे अच्छा बताने कि कोशिस करेगा पर इन sites पर आपको सब मालोम पड़ जायेगा.

आप इसे try  कर सकते हैं: http://www.policybazaar.com/

Policy खरीदने के लिए Internet का इस्तेमाल करें :

ज्यादातर लोग life insurance किसी agent या advisor के माध्यम से लेते हैं पर यदि आप चाहें तो Internet  के माध्यम से भी policy  खरीद सकते हैं. आप किसी भी कंपनी कि वेबसाइट पे जाकर इस सुविधा का लाभ उठा सकते हैं. ऐसा करने से आपका प्रीमियम कुछ कम हो जायेगा, क्योंकि अब कंपनी को advisor को कोई commission  नहीं देना पड़ेगा. पर यदि आप किसी advisor  से सलाह ले रहे हैं तो कृपया उसी से  policy  खरीदें.और इस बात का ध्यान रखें कि premium cheque के माध्यम से ही pay  करें और रशीद लेना कभी न भूलें.

बीमा कंपनी को सही जानकार ही दें :

Life Insurance का एक principle होता है , Principle of Utmost Good Faith जिसके मुताबिक कंपनी और ग्राहक दोनों को ही एक-दुसरे को सही जानकारी देनी होती है. For Example : यदि किसी को diabetes है और वो application form में इस बात को नहीं बताता है और कुछ ही वर्षों में उसकी मृत्यु diabetes  कि वजह से हो जाती  है तो उसके परिवार वालों को बीमा राशि नहीं मिलेगी. इसलिए ज़रोरी है कि आप life insurance company को सही जानकारी दें. बेहतर होगा कि आप इत्मिनान से बैठकर खुद अपने सामने ही पूरा form भरें या भरवाएं. और उसकी photocopy अपने पास रखें.


लुभाने वायदों पे न जायें :

यदि कोई इस तरह का वादा करता है कि वो तीन साल में आपके पैसे दुगुने कर देगा तो उससे कभी policy मत लीजिए. IRDA के नियम के हिसाब से कोई ही life insurance company आपको 10%  से ज्यादा के हिसाब से return नहीं दिखा सकती, यदि कोई आपको भ्रमित कर रहा है तो सावधान हो जाइये . ये हो सकता है कि कंपनी ने पहले कभी abnormal growth दी हो पर ऐसा हमेशा होगा इस बात कि कोई गारंटी नहीं है.


Free Look Period का लाभ उठायें :

आप policy  document प्राप्त करने के 15 दिन के अंदर अपनी policy वापस कर सकते हैं. तो यदि आपने गलती से कोई policy ले ली हो तो भी कोई बात नहीं है आप उसे वापस करके अपने पैसे ले सकते हैं या फिर उसे किसी और प्लान में convert  करा सकते हैं.

Rider ज़रूर लगवाएं :

किसी भी policy  के साथ आप कुछ  additional coverage   या राइडर्स attach  करा सकते हैं. For Example :  Accident Death Benefit (ADB), Critical Illness (CI)rider. Rider लगवाने में बहुत कम खर्च आता है . आप एक लाख का ADB rider मात्र सौ रुपये extra  देके लगवा सकता हैं. जिससे किसी दुर्घटना में मृत्यु होने पर नोमिनी को बीमा राशि कि दुगुन राशि देय होगी. आमतौर पर advisor  इनके बारे में  बताते ही नहीं हैं इसलिए ज़रूरी है कि आप इनका ध्यान रखें.
                                                    ----------------------------------
दोस्तों अपने देश में  Life Insurance और हेलमेट के बीच में एक समानता है. दोनों ही इस वजह से नहीं लिए जाते जिसके लिए बने हैं ब्ल्की उसे लेने में  कुछ और ही स्वार्थ होता है. Life Insurance लिया जाता है  Tax Saving के लिए और हेलमेट लिया जाता है police के  जुर्माने  से बचने के लिए.इन दोनों की असली कीमत  भी तभी पता चलती है जब कोई दुखद घटना घट जाती है. तो यदि आपके पास इन दोनों में से कोई एक भी न हो तो इनकी असली कीमत पता चलने का इन्तेज़ार मत कीजिये, बस  जल्द से जल्द ले डालिए. धन्यवाद.


यदि आपके पास life insurance को ले के कोई  specific query  हो तो आप अपने comments के माध्यम से हमसे पूछ सकते हैं.



------------------------------------------------------------------------------------------

निवेदन : कृपया अपने comments के through बताएं की Tips for buying LIFE INSURANCE in Hindi पे लिखा ये Article आपको कैसा लगा .

यदि आपके पास Hindi में कोई article, good  news; inspirational story या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है:achchikhabar@gmail.com.पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!
   

Labels: ,

20 Comments:

At Friday, January 07, 2011 , Blogger प्रवीण पाण्डेय said...

बड़ी उपयोगी जानकारी दी आपने, पुनः सोचना होगा इस विषय पर।

 
At Saturday, January 08, 2011 , Blogger Bhushan said...

सचमुच नई जानकारी. जीवन बीमा पर प्रकाश डाल कर आपने उपकार किया है. हिंदी में लिखा है सो समझने में भी आसान. आभार.

 
At Saturday, January 08, 2011 , Anonymous Nishant said...

ज़रूरी जानकारी के लिए धन्यवाद, मिश्र जी. एक अनुरोध है कि बैकग्राउंड को लाईट कलर में कर दें तो टेक्स्ट पढने में सुविधा होगी.

 
At Saturday, January 08, 2011 , Blogger अजय दुबे said...

उपयोगी जानकारी देने के लिए धन्यवाद

 
At Saturday, January 08, 2011 , Blogger G Vishwanath said...

उपयोगी जानकारी।
ध्न्यवाद।
पहली बार आपका ब्लॉग पढ रहा हूँ।
इस विषय पर मेरे कुछ विचार और अनुभवें:
हमने लाइफ़ इन्सुरैन्स को कभी पैसे कमाने की रीति या investment नहीं माना।
Share Market/Mutual funds/ Real estate/Gold वगैरह से यदि तुलना करें तो life insurance कभी आकर्षक नहीं हो सकती।
लाइफ़ इन्सुरैन्स को केवल Family security का एक तरीका मानता था।
इससे मुनाफ़ा कमाना कभी मेरा उद्देश्य नहीं था और यदि यह बात ध्यान में रहे तो हम कभी मायूस नहीं होंगे।
आपका यह सुझाव कि पोलिसी खरीदने से पहले उद्देश्य क्या है, इसे तय करना जरूरी है, बिल्कुल ठीक है।
पच्चीस साल पहले हमने अपना घर बनाया था और HDFC से loan लिया था। घर गिर्वी करना पडा था।
घर बनते ही, हमने LIC से नयी पोलिसी खरीदी थी, ठीक उसी रकम के लिए जितना Loan Amount था।
फ़िर निश्चिन्त होकर जीने लगा, यह जानकर के यदि मुझे कुछ हो जाता है तो परिवार सडक पर उतरने पर मजबूर नहीं होंगे।
----Continued

 
At Saturday, January 08, 2011 , Blogger G Vishwanath said...

कई साल बाद एक और पोलिसी खरीदी थी। उद्देश्य केवल पेंशन था। Tax Saving सो अलग।
अब तो इस उम्र में (हमारी आयु ६२ है) हमें जीवन बीमा की कोई आवश्यकता नहीं।
जीवन की सभी जिम्मेदारियाँ पूरी हो गई हैं। घर बन गया है, loan की अदायगी भी हो चुकी है। बेटी शादि शुदा है, बेटा भी अलग रह रहा है और हम पर निर्भर नहीं है।
अब तो बस Health insurance में रुचि है।
पर देखता हूँ कि सभी कंपनियाँ हमें "अछूत" मानते है! कौन बुढ्डों को entertain करेगा? बहुत महँगा पढ सकता है उनके लिए।
मुश्किल से दो साल पहले ICICI Lombard से एक पोलिसी खरीदी।
प्रीमियम भारी था है, पर मैं इसके लिए तैयार था क्योंकि यदि मुझे कुछ हो जाता है तो अस्पताल का खर्च तो हमें बर्बाद करके ही छोडता।
ठीक समय पर यह पोलिसी काम आ गई। पिछले अप्रैल को मुझे दिल का हल्का दौरा पडा था और मुझे अस्पताल में भरती होना पडा।
Angioplasty करवाई । ३.५ लाख का खर्च हुआ, जिसमे में ३.१५ लाख मुझे इन्सुरैन्स कंपनी से मिल गया।
अब मुझे insurance की महत्ता और उपयोगिता पर पूरा विश्वास हो गया है।
आज बस इतना ही। फ़िर आएंगे आपके ब्लॉग पर। लिखते रहिए।
शुभकामनाएं
जी विश्वनाथ

 
At Saturday, January 08, 2011 , Blogger सोमेश सक्सेना said...

बहुत ही जानकारीपरक लेख है। मैने bookmark कर लिया है जब भी कोई नई policy लेनी होगी इसे जरूर पढ़ूंगा।

 
At Sunday, January 09, 2011 , Blogger Mukesh Kumar Sinha said...

ek achchhi jankari...:)

 
At Sunday, January 09, 2011 , Anonymous Anonymous said...

you have presented life insurance in the way it should be.............. i wish all readers and followers to understand life insurance what it is actually.............not get carried away by advisors.

 
At Sunday, January 09, 2011 , Blogger ZEAL said...

A wonderful and very informative post .
Thanks.

 
At Sunday, January 09, 2011 , Blogger Patali-The-Village said...

उपयोगी जानकारी देने के लिए धन्यवाद|

 
At Sunday, January 09, 2011 , Blogger deepak saini said...

बहुत खूब!
इतनी सारी जानकारी देने के लिए धन्यवाद।
बहुत मेहनत की है आपने इस पोस्ट के लिए। बधाई

 
At Sunday, January 09, 2011 , Blogger सतीश सक्सेना said...

अच्छी जानकारी दी आपने ! शुभकामनायें !

 
At Monday, January 10, 2011 , Blogger DR. ANWER JAMAL said...

Nice post .
जनाब को आदाब ! आपके लिए नया साल अच्छा गुज़रे ऐसी हम कामना करते हैं। आपकी फ़ोटो अच्छी लगी।
हम फ़क़ीरों को महलों ये क्या काम ?
हम तो बस आप ही को देखा किये।
हम फ़क़ीरों को यादे मौला के सिवा और चाहिए ही क्या ?
लेकिन आप ने बनाई है तो पोस्ट को भी सराहना पड़ेगा और है भी अच्छी,
सचमुच !
आपकी जिज्ञासाओं को शांत करेगी


प्यारी मां
ये लिंक्स अलग से वास्ते दर्शन-पठन आपके नेत्राभिलाषी हैं।
http://lucknowbloggersassociation.blogspot.com/2010/12/virtual-communalism.html

http://ahsaskiparten.blogspot.com/2010/12/patriot.html


http://ahsaskiparten.blogspot.com/2011/01/standard-scale-for-moral-values.html

http://mankiduniya.blogspot.com/

http://pyarimaan.blogspot.com/

http://commentsgarden.blogspot.com/

http://ahsaskiparten.blogspot.com/

http://islamdharma.blogspot.com/

http://vedquran.blogspot.com/

मेरे दिल के हर दरवाज़े से आपका स्वागत है।

 
At Monday, January 10, 2011 , Blogger सुशील बाकलीवाल said...

श्री गोपाल मिश्राजी साहेब,
जीवन बीमा पर तथ्यपरक जानकारी देता आपका यह लेख सामान्यजन के लिये पर्याप्त उपयोगी है । धन्यवाद...

नजरिया परिवार में शामिल होने पर आपका आभार. अभिनन्दन...

आपके इस ब्लाग को मैं भी फालो कर रहा हूँ । मेरे दूसरे ब्लाग जिन्दगी के रंग को भी आप पसन्द करेंगे । ऐसा मेरा विश्वास है-
कृपया यदि उचित समझें तो जिन्दगी के रंग को भी फालो कर अपना समर्थन प्रदान करें । धन्यवाद सहित...

 
At Sunday, January 16, 2011 , Blogger संजय भास्कर said...

उपयोगी जानकारी देने के लिए धन्यवाद

 
At Sunday, January 16, 2011 , Blogger संजय भास्कर said...

बढ़िया प्रस्तुति पर हार्दिक बधाई.
ढेर सारी शुभकामनायें.

संजय कुमार
हरियाणा
http://sanjaybhaskar.blogspot.com

 
At Friday, May 27, 2011 , Blogger aru said...

thankyou for advised

 
At Tuesday, June 21, 2011 , Blogger mukund said...

mujhe to bilkul bhi nai pata tha bima policy ke bare me aur policy karane ja raha tha. thanks for you advice

 
At Sunday, August 07, 2011 , Blogger Kailash S Bisht "Jai Golu Dev" said...

bahhut hi sunder

 

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

Links to this post:

Create a Link

<< Home